riたr_rh rr曕reぐjϓE r r氞r rぐrRおrZぞrい r氞たr曕たrむrIぞ r曕 rうrZえ-rrZうrZえ r曕 r曕ぞrZr~Xjぐrr曕 rrZざrRじrr曕

2020-03-31 18:34:40
rhr~ぐ
rhr~ぐ Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2

कोविड-19 दुनिया के 200 से अधिक देशों और क्षेत्रों में फैल रहा है। अधिकाधिक देश चीन से महामारी की रोकथाम का अनुभव सीखना चाहते हैं। चाइना मीडिया ग्रुप के अधीनस्थ सीजीटीएन ने विशेष कार्यक्रम पेश किया, जिसमें चीनी और विदेशी डॉक्टरों को आदान-प्रदान करने का मौका मिला।

बताया जाता है कि कार्यक्रम में शामिल अधिकांश विदेशी डॉक्टरों का चीन में चीनी परंपरागत चिकित्सा सीखने का अनुभव है। चीनी डॉक्टरों ने महामारी की रोकथाम में चीनी परंपरागत चिकित्सा की भूमिका का परिचय दिया। विदेशी डॉक्टरों ने कहा कि चीन का अनुभव कारगर और सीखने लायक है। अन्य देशों को सहायता देने के लिए चीन का आभार।

भारत के डॉक्टर निखिल पाराशर ने कहा कि चीनी और पश्चिमी चिकित्सा का संयुक्त उपचार कोविड-19 के मरीजों के इलाज में कारगर है। इससे जाहिर है कि प्राचीन औषधि और परंपरागत तरीका फिर भी लोगों की जान बचा सकता है। कार्यक्रम में चीनी डॉक्टरों ने अनुभव साझा किया। महामारी के सामने लोगों को एकजुट होकर लड़ाई करना चाहिए।

(ललिता)

शेयर