rIr氞えr屲r氞ぞr囙えrrߓrたr~ぞ r˓rZrrߓrr_ぐjいj/a>

rrZr曕rIたrrߓr_r_ rぐ rerZrIぞ rߓ r rMぐjぎr r曕 r~ぞrむrZぞ r曕

2019-04-10 11:00:49
rhr~ぐ
rhr~ぐ Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

rrZたrerr曕 rrZぇrZえrߓErむrZ rerZrIぞ rߓ r 9 rおjぐj堗げ r曕 rMぐjぎr r曕 r~ぞrむrZぞ r曕, r~rZrrrIErr曕 rおrZいr曕ぞrrrhたr栢ぐ rIぎjぎj囙げrrI rすr rMぐjぎr r曕 rrZぇrZえrߓErむrZ r忇ErMrぞ rrZrムたr~ぞ rぞrZr曕rr曕 rIぞrr~rZrrrIErrI rbr r曕ぞ rIぎrrIrムZrWい r曕ぐr r曕 rぞrげjrぐ riたr氞ぞrriたrぐjざ r曕たr~ぞj/p>

rr⑧ぜ r龓Ere rむX r氞げjr囙じ riぞrZrむぞ r曕 r#2366;द दोनों पक्ष मीडिया से नहीं मिले। जर्मनी की सरकार द्वारा जारी वक्तव्य में केवल दोनों पक्षों के बीच वार्ता का प्रमुख मुद्दा पेश किया गया कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ से हटने वाला है। वक्तव्य में अन्य विषय सार्वजनिक नहीं किये गये। जर्मनी सरकार के प्रवक्ता स्टेफ़ेन सीबेरट ने मीडिया से कहा कि यह एक गुप्त वार्ता थी।

जर्मन मीडिया के अनुसार इसके बाद मार्केल जर्मन संसद के सीएसयू संसदीय समूह की बैठक में कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से हटने का समय इस वर्ष के अंत या अगले वर्ष की शुरूआत तक स्थगित करना, यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के बीच विचार-विमर्श के समझौते के अनुसार ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से हटना जर्मनी के हित के अनुकूल है। मार्केल ने ब्रिटेन के रणनीतिक महत्व पर भी ज़ोर दिया और कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से हटने के बाद यूरोपीय संघ फिर भी उसके साथ घनिष्ठ सहयोग करता रहेगा।

(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories