rIr氞えr屲r氞ぞr囙えrrߓrたr~ぞ r˓rZrrߓrr_ぐjいj/a>

r忇えrrI r曕 rむたrrいjrrZいrWえrWぇrrߓErげ r r~rZrrrIErIう r曕ぞ r_#19488;Lकिया

2019-10-16 11:49:34
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

13 से 15 अक्तूबर तक तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की एनपीसी स्थायी समिति के उपाध्यक्ष नयिमा सेरिंग के नेतृत्व में एनपीसी के तिब्बती प्रतिनिधि मंडल ने यूरोपीय संसद की यात्रा की। इस दौरान प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने यूरोपीय संसद के कुछ सांसदों से भेंट की, और स्थानीय थिंक टैंक व विद्वानों के साथ विचारों का आदान-प्रदान किया।

नयिमा सेरिंग ने तिब्बत के प्रति चीन की केंद्र सरकार के नीति-नियम, चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा प्रणाली, जातीय क्षेत्रों में स्वायत्त प्रणाली आदि सफल अभ्यास का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि इस वर्ष तिब्बत में लोकतांत्रिक सुधार की 60वीं वर्षगांठ है। केंद्र सरकार के पूरे समर्थन, सारे देश की जनता की बड़ी सहायता, और तिब्बत की विभिन्न जातीय जनता की बड़ी कोशिश से तिब्बत केवल दसेक वर्षों में पीछे से आगे बढ़ रहा है, गरीब से अमीर बन रहा है, बंद व्यवस्था से खुलेपन की ओर जा रहा है। तिब्बत में ऐतिहासिक छलांग लगायी गयी। समाज में ज़मीन आसमान का बदलाव हुआ। साथ ही उन्होंने अपने अनुभव से तिब्बत में राजनीति, अर्थव्यवस्था, तिब्बती भाषा व संस्कृति का विकास, पर्यावरण संरक्षण आदि पक्षों की स्थिति का परिचय दिया।

यूरोपीय संसद ने तिब्बत द्वारा प्राप्त सफलताओं की प्रशंसा की, और यूरोपीय संसद व चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के बीच आदान-प्रदान व सहयोग को मजबूत करने की बात कही।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories