r曕rߓrrZたrriたrhriさrWうjくrZげrrߓrr氞r rrZr@rIぐ r rIrぞrr氞r r曕すrZえj/h1>
2019-10-16 19:01:09
Comment
rhr~ぐ
rhr~ぐ Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

स्थानीय समयानुसार 15 अक्तूबर को ब्रिटेन के कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में चीनी संस्कृति से जुड़ी एक खास कक्षा आयोजित हुई। शांगहाई में फ़ूतान विश्वविद्यालय के चीन अनुसंधान संस्थान के प्रमुख प्रोफेसर चांग वेइवेइ नेआधुनिक चीन की जानकारीGकहां से आता और कहां जाएगाशीर्षक व्याख्यान दिया। उन्होंने चीन के विकास का नमूना, इसके पीछे व्यवस्था की श्रेष्ठता और इससे स्वर्ण युग में गुजर रहे चीन और ब्रिटेन के विकास के सामने मौजूद बड़े अवसरों के बारे में व्यापक तौर पर व्याख्या की।

एक घंटे के व्याख्यान में प्रोफेसर चांग वेइवेइ ने नए चीन की स्थापना के बाद पिछले 70 सालों में राजनीति, अर्थतंत्र और समाज आदि क्षेत्रों में प्राप्त कामयाबियों पर चर्चा की। चीनी विशेषता वाले समाजवादी विकास रास्ते और सफल अनुभव से अवगत करवाया। इसके साथ ही उन्होंने चीन के विकास के नमूने, प्रणालीबद्ध श्रेष्ठता और जिनसे चीन-ब्रिटेन संबंध के विकास को पहुंचाने वाले बड़े वाणिज्यिक मौके का विश्लेषण किया।

प्रोफेसर चांग ने कहा कि वैश्विकता के रुझान में खुद के विकास के लिए लाभदायक व्यवस्था और वातावरण को स्वीकार करना चाहिए। इसके साथ ही प्रतिकूल कारकों को त्याग करना चाहिए। यह चीन के सफल रास्ते का ही कारण है।

स्वर्ण युग में चीन-ब्रिटेन सहयोग की निहित शक्ति की चर्चा करते हुए प्रोफेसर चांग ने विश्वास जताया कि चीन की प्रणालीबद्ध श्रेष्ठता ने द्विपक्षीय संबंध के और आगे विकास के लिए आधार स्थापित किया। अगर ब्रिटेन वास्तविक तौर पर ब्रेक्सिट हुआ, तो लगता है कि वह चीन के बाज़ार पर ज्यादा निर्भर रहेगा। दोनों देशों के बीच सहयोग की भारी निहित शक्ति है।

व्याख्यान देने के बाद प्रोफेसर चांग ने दर्शकों के सवालों का जवाब दिया। ब्रिटेन में रह रहे चीनी मूल के लोग, प्रवासी चीनी, विद्यार्थियों के प्रतिनिधि और ब्रिटेन में विभिन्न जगतों के दोस्त समेत करीब 150 लोगों ने इस खास कक्षा में भाग लिया।

गौरतलब है कि एक दिन पहले यानी 14 अक्तूबर को प्रोफेसर चांग वेइवेइ ने ऑक्सफोर्ड ब्रूक्स विश्वविद्यालय मेंसभ्य देशों की दृष्टि में चीन का रास्ता औरबेल्ट एंड रोडशीर्षक व्याख्यान भी दिया, उन्होंने व्यापक तौर पर चीन की विकसित विचारधारा और समृद्ध रास्ते की व्याख्या की।

(श्याओ थांग)

शेयर