डिजिटल तकनीक से महामारी का मुकाबला करने के लिए चीन ने अफ्रीकी देशों को दिये अनुभव

2020-07-03 11:36:50
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

1 जुलाई को संयुक्त राष्ट्र संघ के आर्थिक और सामाजिक मामलात विभाग द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन बैठक में संयुक्त राष्ट्र संघ, यूरोपीय संघ, दक्षिण अफ्रीका, केन्या, चीन आदि अंतर्राष्ट्रीय संगठनों और देशों के प्रतिनिधियों ने कोविड-19 के मुकाबले पर चर्चा की।

महामारी की रोकथाम के साथ-साथ आर्थिक और सामाजिक विकास को सुनिश्चित करना सबसे ध्यानाजनक मुद्दा बना गया है। चीन से आए प्रतिनिधियों ने क्लाउड महामारी विरोधी और क्लाउड अर्थव्यवस्था आदि चीनी अनुभवों का साझा किया। चीन इसलिए महामारी का तुरंत निपटारा कर सकता, कारण है कि चीन ने 2015 से इंटरनेट प्लस योजना लागू की है। डिजिटल तकनीक समाज की नयी बुनियादी संरचना बन चुकी है। चीन में व्यापार का नया फार्मूला नजर आने लगा है।

महामारी की कोई सीमा नहीं है। क्या अफ्रीका महामारी की चुनौती का सफलतापूर्ण निपटारा कर सकता है? यह विश्व महामारी रोकथाम कार्य के लिए अति महत्वपूर्ण है। संयुक्त राष्ट्र संघ के आर्थिक और सामाजिक मामलात विभाग की सहायक महासचिव मारिया-फ्रांसेस्का स्पैटोलिसानो ने जोर दिया कि अफ्रीकी देश इस संकट का प्रयोग कर सभी मौजूदा कानूनों व नियमावलियों की समीक्षा कर सकते हैं और टेलिकॉम तकनीक और डिजिटल नवाचार विकास को आगे बढ़ा सकते हैं। महामारी के मुकाबले में अफ्रीकी देश अनेक नवाचार हथकंडे अपना चुके हैं, जिनमें सूचना साझा करना, जनता को प्रेरित करना और स्वास्थ्य प्रणाली को परिपूर्ण बनाना आदि शामिल हैं। डिजिटल महामारी विरोधी क्षेत्र में अफ्रीकी देश अनेक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories