10 अक्तूबर 2019

2019-10-10 10:25:55
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः दुनिया के कई देशों में भीख मांगना अपराध की श्रेणी में आता है, लेकिन इसके बावजूद दुनियाभर में भिखारियों की एक बड़ी तादाद है। ऐसी ही एक महिला भिखारी की खबर इन दिनों सुर्खियां बनी हुई हैं। इस महिला भिखारी के बैंक अकाउंट में इतने पैसे हैं, जिसे देखकर बैंक वालों के भी पसीने छूट गए।

दरअसल, ये महिला लेबनान की रहने वाली है, जिसका नाम वाफा मोहम्मद अवद है। उसके बैंक अकाउंट में करीब 6.37 करोड़ रुपये हैं। इसका पता तब चला, जब वह अपने पैसे को एक बैंक से दूसरे बैंक में ट्रांसफर कराने के लिए बैंक पहुंची थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब महिला ने पैसे ट्रांसफर करने के लिए बैंक को आवेदन दिया तो कर्मचारियों के कान खड़े हो गए, क्योंकि उनके पास उतनी नकदी थी ही नहीं, जितनी राशि महिला ने अपने चेक में भरी थी।


नीलमः वहीं दुनिया में पहली बार एक हीरे के अंदर हीरा मिलने का मामला सामने आया है। यह हीरा यकुशिया की न्यूरबा खान में मिला है, जिसके बारे में बताया जा रहा है यह 80 करोड़ साल से भी ज्यादा पुराना हो सकता है।

रूस में साइबेरिया की खनन कंपनी अलरोसा पीजेएससी के मुताबिक, इस हीरे का वजन 0.62 कैरेट है जबकि इसके अंदर के हीरे का वजन 0.02 कैरेट है।

हीरे के अंदर हीरा होने की वजह से इसे रूस की पारंपरिक गुड़िया 'मैट्रीओशका' जैसा बताया जा रहा है। इस हीरे की कीमत करीब 426 करोड़ रुपये आंकी गई है।


अनिलः उधर भूमध्य सागर में वैज्ञानिकों ने यहां एक छिपे हुए महाद्वीप की खोज की है, जिसका नाम ग्रेटर एड्रिया है। इस दौरान वैज्ञानिकों ने यह भी साफ किया है कि यह अटलांटिस का खोया हुआ शहर नहीं है।

पिछले महीने गोंडवाना रिसर्च जर्नल में छपी एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि ग्रीनलैंड के आकार का यह महाद्वीप (ग्रेटर एड्रिया) करीब 14 करोड़ साल पहले उत्तरी अफ्रीका से अलग होकर भूमध्य सागर में डूब गया था।

उट्रेक्त विश्वविद्यालय में वैश्विक टेक्टोनिक्स और पैलियोजियोग्राफी के प्रोफेसर डेव वान हिंसबर्गेन ने बताया कि बड़ी संख्या में पर्यटक ग्रेटर एड्रिया के खोए हुए महाद्वीप पर हर साल छुट्टियां मनाने आते हैं, लेकिन उन्हें इस बात का पता ही नहीं है।

प्रोफेसर डेव ने बताया कि जांच के दौरान यह पाया गया कि ग्रेटर एड्रिया की अधिकांश पर्वत शृंखलाएं एकल महाद्वीप से उत्पन्न हुई थीं और ये पर्वत शृंखलाएं 20 करोड़ साल पहले उत्तरी अफ्रीका से अलग हुई थीं। इस महाद्वीप पर एकमात्र बचा हुआ भाग एक पट्टी है, जो इटली के ट्यूरिन शहर से होते हुए एड्रियाटिक सागर तक जाती है।


नीलमः हाल में एक अजीबोगरीब प्रतियोगिता न्यूयॉर्क में आयोजित की गई थी, जिसमें प्रतियोगियों को टॉयलेट पेपर से वेडिंग ड्रेस बनाने का काम दिया गया था।

शुरुआत में इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए कुल 1500 प्रतिभागियों ने एंट्री कराई थी, लेकिन 30 सितंबर को इस प्रतियोगिता का फाइनल राउंड हुआ, जिसमें सिर्फ 10 प्रतिभागी ही चयनित हुए। इस प्रतियोगिता में दक्षिणी कैरोलिना की मिमोजा हास्का को विजेता चुना गया। इस प्रतियोगिता में वेडिंग ड्रेस बनाने के लिए टॉयलेट पेपर के साथ ही टेप, धागा और ग्लू का इस्तेमाल किया गया। मिमोजा हास्का ने कुल 48 रोल टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल कर वेडिंग ड्रेस बनाया, जिसे सबसे शानदार घोषित किया गया। इस वेडिंग ड्रेस को बनाने में मिमोजा को कुल 400 घंटे का समय लगा।

मिमोजा हास्का को विजेता के तौर पर कुल सात लाख रुपये का इनाम दिया गया। इस प्रतियोगिता में जज के तौर पर कई मशहूर हस्तियां थीं। इसका प्रसारण अमेरिका के राष्ट्रीय टीवी पर भी किया गया था।


अनिलः उधर दुनिया का प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार मेडिसिन के क्षेत्र में इस बार तीन वैज्ञानिकों को सामूहिक रूप से दिया गया है. इन वैज्ञानिकों के नाम हैं विलियम कायलिन, ग्रेग सेमेन्ज़ा और पीटर रैटक्लिफ. विलियम औऱ ग्रेग अमेरिका से ताल्लुक रखते हैं जबकि पीटर ब्रिटेन के रहने वाले हैं. इन लोगों ने पता लगाया कि ऑक्सीजन का स्तर किस तरह से हमारे सेलुलर मेटाबोलिज्म और शारीरिक गतिविधियों को प्रभावित करता है. वैज्ञानिकों की इस खोज से एनीमिया, कैंसर और अन्य बीमारियों के खिलाफ लड़ाई में नई रणनीति बनाने का रास्ता साफ हुआ है.

स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में सोमवार को नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की गई. मंगलवार को भौतिकी और उसके बाद 14 अक्टूबर तक कुल छह क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कार विजेताओं का ऐलान किया जाएगा. वहीं स्वीडिश अकादमी 2018 और 2019 दोनों ही वर्षों के लिए साहित्य नोबेल पुरस्कारों का घोषणा करेगी. 2018 में यौन उत्पीड़न के मामले में फंसने की वजह से साहित्य के नोबेल पुरस्कार को स्थगित कर दिया गया था.

बता दें नोबेल पुरस्कार हर साल स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की स्मृति में दिया जाता है. इसकी शुरुआत 1901 में हुई थी. ये पुरस्कार चिकित्सा, भौतिकी, रसायन, साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दिया जाता है.


नीलमः उधर दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दूध की आपूर्ति करने वाली प्रमुख कंपनी मदर डेयरी ने कहा कि वह पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए अगले वर्ष मार्च तक 832 टन प्लास्टिक का पुनर्चक्रीकरण (री-साइकिलिंग) करेगी. कंपनी ने एक बयान में कहा, इस्तेमाल के बाद बचे प्लास्टिक का कचरा बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए कंपनी ने जून 2018 में महाराष्ट्र में प्लास्टिक अपशिष्ट संग्रहण और पुनर्चक्रीकरण पहल की शुरुआत की थी.'' मदर डेयरी ने मई 2019 तक 1,073 टन प्लास्टिक कचरे का संग्रहण और पुनर्चक्रण किया है.

इसमें 183 टन बहुस्तरीय पैकेजिंग (एमएलपी) और 890 टन गैर-बहु स्तरीय पैकेजिंग सामग्री शामिल हैं. कंपनी ने कहा, मदर डेयरी अपने परिचालन के 25 प्रमुख राज्यों में प्लास्टिक कचरे को एकत्र करेगी और वह मार्च 2020 तक इस्तेमाल किये जा चुके कुल एमएलपी के करीब 60 प्रतिशत को पुन: चक्रित करने का लक्ष्य रख रही है जो करीब 832 टन है.'' दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और बिहार में यह प्रयास पहले ही शुरू किया जा चुका है.


अनिलः अब अमेरिका में उन अप्रवासियों को प्रवेश नहीं मिलेगा जिनका स्वास्थ्य बीमा नहीं है और जो इलाज का खर्च नहीं उठा सकते। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को इस प्रस्ताव को मंजूरी दी। फैसला तीन नवंबर से प्रभावी होगा।

नई व्यवस्था में उन्हीं अप्रवासियों को वीजा जारी होगा, जो यह साबित कर सकें कि वे अमेरिकी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली पर बोझ नहीं बनेंगे। आदेश में कहा गया है कि अप्रवासियों को अमेरिकी करदाताओं को और अधिक परेशान नहीं करना चाहिए।


नीलमः प्रोग्राम में जानकारी देने का सिलसिला यहीं संपन्न होता है। अब समय हो गया है श्रोताओं की टिप्पणी का।

पहला पत्र हमें भेजा है, खंडवा मध्य प्रदेश से दुर्गेश नागनपुरे ने। लिखते हैं हमें 3 अक्तूबर, गुरुवार का टी टाइम कार्यक्रम बेहद लाजवाब लगा । कार्यक्रम में प्रसारित तमाम अजीबोगरीब एवं चटपटी बातें , हिन्दी गीत , और कार्यक्रम टी टाइम के अंत में भाई अनिल पांडेय जी द्वारा प्रस्तुत मजेदार जोक्स सुनकर बहुत मज़ा आया। दुर्गेश जी पत्र भेजने के लिए शुक्रिया।

अनिलः अगला पत्र हमें भेजा है, केसिंगा उड़ीसा से सुरेश अग्रवाल ने। लिखते हैं, कार्यक्रम "खेल जगत" के तहत अनिल पाण्डेय द्वारा आज सबसे पहले दी गयी यह जानकारी निराशाजनक लगी कि 15 साल अस्तित्व में रहने के बाद बाइचुंग भूटिया का यूनाइटेड सिक्किम फुटबॉल क्लब बन्द हो गया है। हाँ, यह जान कर अच्छा लगा कि रूस में कुनेरू हम्पी ने शतरंज में अपनी जीत पक्की कर ली है। मुक्केबाज बिजेन्दर के बाद अमित पांखल का उभर कर सामने आने का समाचार भी उत्साहित करने वाला लगा। फुटबॉल में बार्सिलोना का ग्रेनाडा से हारना और जापान की माओमि ओसाका की सफलता आदि तमाम खेल समाचार महत्वपूर्ण लगे। धन्यवाद फिर एक शानदार प्रस्तुति के लिये। सुरेश जी धन्यवाद।


नीलमः आगे लिखते हैं कि कार्यक्रम "टी टाइम" का आगाज़ ब्रिटेन द्वारा 31 अक्टूबर को निश्चित रूप से यूरोपीय संघ छोड़ देने की ख़बर से किया जाना महत्वपूर्ण लगा, क्यों कि यह मामला स्वयं ब्रिटेन में इतना विवादित हो चुका था कि जिसके चलते प्रधानमंत्री थेरेस मे को अपने पद से त्यागपत्र देना पड़ा था।

वहीं दुनिया के सर्ववृहद स्टूडियो यूनिवर्सल पेइचिंग रिजॉर्ट के वर्ष 2021 में आधिकारिक तौर पर खुलने का समाचार भी उत्साहवर्ध्दक लगा। यह जान कर आश्चर्य हुआ कि दिल्ली से इस्तांबुल जा रही इंडिगो की उड़ान सवारियों का सामान ही ले जाना भूल गई। इसे भूल नहीं, घोर लापरवाही कहा जाना चाहिये।

यह जान कर खुशी हुई कि अब पूरी दुनिया में सर्कस के लिए जानवरों के साथ होने वाले दुर्व्यवहार पर रोक लगेगी। इसके साथ ही डेनमार्क सरकार द्वारा आखिरी 4 सर्कस के हाथियों की खरीद एवं इन हाथियों के लिए 11 करोड़ रुपए अदा किये जाने का समाचार भी काफी अच्छा लगा।

वहीं महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के रायटे वाघापुर गांव में एक बैल कैसे मीठी चपाती के साथ बैल उनके मंगल-सूत्र को भी चबा गया और बाद में उसे शल्य-क्रिया के ज़रिये बैल के पेट से निकाला गया, सचमुच हैरान करने वाली थी।

अनिलः यह समाचार भी हैरान करने वाला लगा कि लंदन के 18 वर्षीय ओवन कैरी की मृत्यु रेस्तरां में जन्मदिन का खाना खाने के कारण हो गयी। उन्हें दूध से बनी चीजों से एलर्जी थी और पहले से बताये जाने के बावज़ूद, रेस्तरां द्वारा उनके खाने में मसालेदार बटरमिल्क परोसा गया। शायद भारत में तो ऐसी बातों को गौण कर दिया जाता।

वहीं फेसबुक द्वारा अपने मंच पर हानिकारक सामग्री को सीमित करने हेतु कदम उठाने की घोषणा स्वागतेय है, परन्तु इस पर पूरी तरह अमल करना मुमकिन नहीं लगता।

जानकारियों के क्रम में आगे जापान में 100 साल या इससे ज्यादा आयु के लोगों की संख्या पहली बार 70,000 के पार होने के समाचार से कोई अचरज नहीं हुआ, क्यों कि दीर्घ-जीवी होना वहां की परम्परा बन गई है। बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नवेली नंदा का अमेरिका की सड़कों पर एक्सरसाइज करते दिखाई पड़ने सम्बन्धी वीडियो का वायरल होना तो स्वभाविक ही है, क्यों कि वह बच्चन की नातिन जो ठहरीं।


इसके साथ ही सुरेश जी यह चुटकुला भेजा है।

बूढ़े आदमियों का ग्रुप

तीर्थ-यात्रा पर चला ।

गाइड ने कहा , कल सबेरे जल्दी नहाकर

दर्शन को चलेंगे..और याद रहे , यह तीर्थ-यात्रा धाम है ,

इसलिये रास्ते में आजू-बाजू औरत स्नान करती हुई दिखेंगी

पर ध्यान मत देना वरना बहुत बड़ा पाप लगेगा.....और अगर गलती से दिख जाये तो

उसे नजर अंदाज करना और "हरिओम""हरि ओम""बोलते हुए आगे बढते रहना.....!

दूसरे दिन जब वो चले...तब वो थोड़ा ही चले थे...कि एक बोला ,"हरि ओम"

बाकी सारे एक साथ बोले...

किधर है...? किधर है...????????

गाइड:- सालो तुम लोग नहीं सुधरोगे।।।

सुरेश जी पत्र और चुटकुला भेजने के लिए शुक्रिया।


नीलमः अब बारी है अगले पत्र की। जिसे भेजा है, दरभंगा बिहार से शंकर प्रसाद शंभू ने। लिखते हैं पिछला टी-टाइम प्रोग्राम बहुत अच्छा लगा। जिसमें 31 अक्तूबर तक ब्रिटेन यूरोपीय संघ को छोड़ देगा, वाला समाचार दिया गया। वहीं पता चला कि पेइचिंग के दक्षिण-पूर्व में स्थित यूनिवर्सल पेइचिंग रिजॉर्ट 2021 में आधिकारिक रूप से खुल जाएगा। यह स्टूडियो दुनिया का पांचवां और एशिया का तीसरा यूनिवर्सल स्टूडियो है,जो अमेरिका के यूनिवर्सल स्टूडियो को पीछे छोड़कर दुनिया में सबसे बड़ा यूनिवर्सल स्टूडियो थीम पार्क बनेगा। यह सुनकर आश्चर्य हुआ कि दिल्ली से इस्तांबुल जा रही इंडिगो फ्लाइट यात्रियों का लजेग लोड करना भूल गई।

मनोरंजन के लिए बजाये गये हिन्दी गीत- दीदी तेरा देवर दिवाना हाय राम गुड़ियों को डाले दाना--- काफी रोमांचक और सुमधुर लगा।

श्रोताओं की टिप्पणी का प्रसारण नहीं होने से इसकी कमी काफी खली और कार्यक्रम के अंत में सुनाये गये तीन जोक्स में से दो जोक्स हंसाने में कामयाब रहे। धन्यवाद एक अच्छी प्रस्तुति के लिए। शंभू जी पत्र भेजने के लिए धन्यवाद।


नीलमः प्रोग्राम का अगला पत्र भेजा है, बेहाला कोलकाता से प्रियंजीत कुमार घोषाल ने। लिखते हैं कि मुझे आपके द्वारा प्रस्तुत प्रोग्राम बहुत अच्छा लगता है। पिछले कार्यक्रम में आपने बताया कि ब्रिटेन जल्द ही ब्रेक्स्टि के तहत यूरोपीय संघ से बाहर होने वाला है। इसके साथ ही चीन के थीम पार्क के बारे भी हमें बताया गया। जबकि लंदन में एक युवक की मौत मिल्क प्रॉडक्ट खाने से हो गयी। जबकि उसे इस तरह की चीजों से एलर्जी थी। यह समाचार जानकर दुःख हुआ। प्रोग्राम में पेश अन्य जानकारियां बेहतरीन लगी। धन्यवाद।


अनिलः टिप्पणी के बाद समय हो गया है जोक्स यानी हंसगुल्लों का।

पहला जोक.....यह जोक पंतनगर, उत्तराखंड से वीरेंद मेहता ने भेजा है।

जोक्स - टीचर:- शादी में दूल्हा-दुल्हन 7 फेरे क्यों लेते हैं ?

पप्पू :- क्योंकि प्रत्येक फेरा 360 डिग्री का होता है ,और 360 ही एक ऐसी संख्या है जो 1 से 9 तक के अंकों में केवल 7 से विभाजित नहीं होती इसलिए सात फेरों का संबंध अविभाज्य है ।


दूसरा जोक और तीसरा जोक खंडवा मध्य प्रदेश से दुर्गेश नागनपुरे ने भेजा है।

माँ गुस्से में अपने बेटे से: तू बाल क्यूं नहीं कटवाता है?

बेटा: क्या Problem है माँ, ये आजकल का Fashion है.!!!

माँ गुस्से में: आग लगे इस Fashion को, लड़के वाले तेरी बहन को देखने आये थे तुझे पसंद करके चले गए..


तीसरा जोकः पप्पू- पापा मुझे DJ खरीदकर दो।

पापा- नहीं दूंगा तू लोगों को तंग करेगा।

पप्पू- नहीं पापा, मैं किसी को तंग नही करूँगा जब सब सो जायेंगे तभी बजाया करूँगा!!


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories