शांगहाई में चीन और अमेरिका का मिलन--- संलयन से समृद्धि तक

2020-11-10 16:55:53
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ब्रिटिश कवि किपलिंग ने कहा था, "पूर्व है पूरब, और पश्चिम है पश्चिम, और कभी भी ये दोनों नहीं मिलेंगे।" क्या चीन और अमेरिका के बीच सांस्कृतिक अंतर को नेविगेट करना असंभव है? संगीत निर्माण से व्यवसाय तक, संलयन का क्या अर्थ है? आइए, शांगहाई के लिंकन जैज सेंटर और डिज्नी रिज़ॉर्ट का दौरा करें, इन सवालों का जवाब मिलेगा।

चाहे जैज हो या डिज्नीलैंड, यह संलयन के बारे में है। लोग और विचार एक साथ आने के संदर्भ में ही पनप सकते हैं। यह शांगहाई की कहानी है, और साथ ही यह पूरी दुनिया की कहानी भी हो सकती है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories